पाठ़्यक्रम की रुपरेखा

प्रारम्भिक शिक्षा में दो वर्षीय डिप्ळोमा के लिए पाठ़्यक्रम की रुपरेखा इस प्रकार तय की गई है | मुख्यत: तीन आयाम होगे -

1)शिक्षा की समझ (Foundation)
2)सीखने-सिखाने की समझ (Teaching Learning )
3)शिक्षण अभ्यास व हस्तकौशल  का अभ्यास (Teaching Skill and Handicraft)

प्रथम वर्ष

विषय सत्र समाप्ति परीक्षा प्रयोग / आन्तरिक मूल्यांकन
F-1 शिक्षा के बुनियादी विचार 30 20
F-2 बाल विकास व मनोविज्ञान 30 20
F-3 विद्यालय की समझ व कक्षा का प्रबंधन 30 20
F-4 शिक्षा का विकास बिहार विशेष के संदर्भ व शिक्षा का साहित्य 30 20
F-5 सम्प्रेषण के तरीके 30 20
F-6 भाषा का शिक्षणशास्त्र 30 20
F-7 गणित का शिक्षणशास्त्र 30 20
F-8 पर्यावरण विज्ञान का शिक्षणशास्त्र 30 20
F-9 सामाजिक विज्ञान का शिक्षणशास्त्र 30 20
F-10 हिन्दी अथवा उर्दू शिक्षण 30 20
F-PT शिक्षण अभ्यास 100 100
F-W-1 कम्प्युटर कौश्ल 30 20
F-W-2 हस्तशिल्प/चित्रकला/हस्तकला/नाट्यकला/गीत-संगीत   30
F-W-3 योग व शारीरिक शिक्षा/आहार व पोषण की जानकारी   20
F-W-4 शोध रिपोर्ट :बचपन और बच्चों का अध्ययन   30
कुल अंक 400+400=800

द्वितीय वर्ष

विषय सत्र समाप्ति परीक्षा प्रयोग / आन्तरिक मुल्यांकन
S-1 शिक्षा के बुनियादी विचार 30 20
S-2 बाल विकास व मनोविज्ञान 30 20
S-3 विद्यालय की सक्षम व कक्षा का प्रबंधन 30 20
S-4 शिक्षा का विकास बिहार विशेष के संदर्भ व शिक्षा का साहित्य 30 20
S-5 सम्प्रेषण के तरीके 30 20
S-6 भाषा का शिक्षणशास्त्र 30 20
S-7 गणित का शिक्षणशास्त्र 30 20
S-8 पर्यावरण विज्ञान का शिक्षणशात्र 30 20
S-9 सामाजिक विज्ञान का शिक्षणशास्त्र 30 20
S-10 हिन्दी अथवा उर्दू शिक्षण 30 20
S-PT शिक्षण अभ्यास 100 100
S-W-1 कम्प्युटर कौशल 30 20
S-W-2 हस्तशिल्प/चित्रकला/हस्तकला/नाट्यकला/गीत-संगीत   30
S-W-3 योग व शारीरिक शिक्षा/आहार व पोषण की जानकारी   20
S-W-4 शोध रिपोर्ट :सामाजिक व शिक्षायी संरचनाओ और प्रक्रियाओं का अध्ययन |(स्थानीय समाज, स्थानीय कौशल, स्थानीय स्कूल, स्थानीय शिक्षा आंदोलन, जीवन शैली, वचना इत्यादि की प्रक्रियाओं का अध्ययन )   30
कुल अंक 400+400=800

नोट:-जिन शिक्षार्थीओं ने प्रथम वर्ष के F-10 में हिन्दी लिया है व S-10 में हिन्दी को वैकल्पिक विषय के रुप में नहीं चुन सकते हैं और जिन शिक्षार्थीओं ने F-10 में उर्दू लिया है व S-10 में उर्दू नहीं चुन सकते हैं अतः S-10 का इन विषयों का पाठ़्यक्रम वही होगा जो F-10 का है।